झोनुगा के नार मा माया के अषाढ़ मा, तै बांधे मोला ओ...गीत-

ग्राम-गारे, जिला-रायगढ़ (छत्तीसगढ़) से संतोष कुमार सिदार एक छत्तीसगढ़ी गीत सुना रहे हैं:
झोनुगा के नार मा माया के अषाढ़ मा-
तै बांधे मोला ओ-
तोर बर माया लागे मोला अलकरहा-
फुल फुल फुल सुंदरी धर मुंदरी चिन्हारा पाबे-
राखबे जतन के तै झिन गवाबे-
झोनुगा के नार मा माया के अषाढ़ मा-
तै बांधे मोला ओ... (AR)

Posted on: Jul 14, 2020. Tags: CG RAIGARH SAMIR SIDAR SONG

स्वास्थ्य स्वर : शरीर में होने वाली जलन का घरेलू उपचार...

ग्राम-रनई, थाना-पटना, जिला-कोरिया (छत्तीसगढ़) से वैद्य केदारनाथ पटेल कुटकी का औषधीय उपयोग बता रहे हैं, मिट्टी के बर्तन में कुटकी का काढ़ा बना लें, छान लें, उसके बाद एक मिली क्वाथ में 12 ग्राम चीनी डालकर सेवन करने से शरीर में होने वाली जलन में लाभ हो सकता है, संबंधित विषय पर जानकारी के लिये संपर्क कर सकते हैं: संपर्क नंबर@9826040015. (AR)

Posted on: Jul 14, 2020. Tags: CG HEALTH KEDARNATH PATEL KORIYA

दौरी मा दोना है दोना मा फूल- दुवारी मै तोर धूल...गीत-

ग्राम-गारे, जिला-रायगढ़ (छत्तीसगढ़) से संतोष कुमार सिदार एक गीत सुना रहे हैं:
दौरी मा दोना है दोना मा फूल-
दुवारी मै तोर धूल-
मै लईका तोर दाई मै लईका नान कून-
मै लईका तोर माता मै लईका नान कून-
आमा के पान दाई तोर बर चढ़ाये हों-
कलश मढ़ा के माता दिया जलाये हों-
दौरी मा दोना है दोना मा फूल-
दुवारी मै तोर धूल....

Posted on: Jul 14, 2020. Tags: CG RAIGARH SANTOSH KUMAR SIDAR SONG

स्वास्थ्य स्वर : मासिक धर्म विकार का घरेलू उपचार-

ग्राम-रनई, थाना-पटना, जिला-कोरिया (छत्तीसगढ़) से वैद्य केदारनाथ पटेल उलट कंबल का औषधीय उपयोग बता रहे हैं, मासिक धर्म होने पर होने वाले दर्द में उलट कंबल में मूल और छाल के रस को सुबह के समय नियमित सेवन करने से लाभ हो सकता है, दर्द से आराम मिल सकता है, संबंधित विषय पर जानकारी लेकर नुस्खा उपयोग कर सकते हैं : संपर्क नंबर@9826040015. (AR)

Posted on: Jul 14, 2020. Tags: CG HEALTH KEDARNATH PATEL KORIYA

बाघमारा पारा गाँव के नाम की कहानी...

ग्राम-बाघमारा पारा, पंचायत-पारापुर, ब्लाक-लोहंदीगुडा, जिला-बस्तर (छत्तीसगढ़) से मंगल यादव बता रहे हैं कि गाँव का नाम बाघमारा कैसे पड़ा, उनकी दादी माँ एक दिन धान कूट रही थी तभी घर में बाघ आ गया और दादी मा ने उस बाभ को मूसल से मार दिया तब से उस गाँव का नाम बाघमारा पड़ा है, ये 5 पीढ़ी पहले हुआ था उनका कहना है, जब घर ठीक से नहीं हुआ करते थे, पूरा जंगल का इलाका था, इस तरह से गाँव का नाम बाघमारा पारा पड़ा और आज भी उसी नाम से गाँव को जाना जाता है : संपर्क नंबर@9381279687. (AR)

Posted on: Jul 14, 2020. Tags: BASTAR CG KIRTI SAHU STORY

View Older Reports »