जिमुक जमू डंडा करे कनुका ता लक्का रे...गीत-

कोंटा, जिला-सुकमा (छत्तीसगढ़) से कुलमनी और जेना एक गीत सुना रहे हैं :
जिमुक जमू डंडा करे कनुका ता लक्का रे-
जिमुक जमू डंडा करे कनुका ता लोटा-
छाटा दरिया फुन फुंदिया नोनी रे-
तोरा पुटिया लोरको, बैसदी गोड़िया लोको-
जिमुक जमू डंडा करे कनुका ता लक्का रे-
जिमुक जमू डंडा करे कनुका ता लोटा-
छाटा दरिया फुन फुंदिया नोनी रे...

Posted on: Jun 16, 2019. Tags: BHAN SAHU CG KONTA SONG SUKMA

स्वास्थ्य स्वर : रतौंधी बीमारी का घरेलू उपचार-

ग्राम-लाछाकड़ी, पोस्ट-गंगपुर, तहसील-वासदा, जिला-नवसारी (गुजरात) से वैद्य एच डी गांधी रतौंधी बीमारी का घरेलू उपचार बता रहे हैं| बेल की ताजी पत्ती 10 ग्राम, काली मिर्च 6 नग, मिश्री 25 ग्राम लें| सभी को कूट पीस कर चूर्ण बना लें| उसके बाद एक गिलास पानी में उबालें, जब एक कप बच जाये तो ठण्डा कर रख लें| एक-एक कप दवा सुबह-शाम सेवन करने से लाभ हो सकता है| भोजन में हरी सब्जी, और फल का उपयोग करें| पानी का ज्यादा सेवन करें| मिर्च, मसाला, तेल, खटाई, गरिष्ठ भोजन, मैदा, शक्कर, नमक का सेवन कम करें| नशा न करें| अधिक जानकारी के लिये संपर्क कर सकते हैं : एच डी गांधी@9111061399.

Posted on: Jun 16, 2019. Tags: GUJARAT HD GANDHI HEALTH NAVSARI

वैययो वैया नोनी निम्मा वैया नोनी, वैया नोनी...गोंडी गीत-

रामाराम, जिला-सुकमा (छत्तीसगढ़) से भान साहू ग्रामीण महिलओं के साथ एक गोंडी गीत सुना रही हैं :
वैययो वैया नोनी निम्मा वैया नोनी-
वैया नोनी-
याते यल्ले केल्ला नोनी याले याले केल्ला-
वैययो वैया नोनी निम्मा वैया नोनी-
उंगल माको यया, उंगल माको यायो-
वैययो वैया नोनी निम्मा वैया नोनी...

Posted on: Jun 16, 2019. Tags: BHAN SAHU CG GONDI SONG SUKMA

स्वास्थ्य स्वर : पर्नदी या पथरचट्टा के पत्तो की चटनी के फायदे-

ग्राम-लाछाकड़ी, पोस्ट-गंगपुर, तहसील-वासदा, जिला-नवसारी (गुजरात) से वैद्य अनंतराम किडनी से संबंधित विकारो को दूर करने का घरेलू उपचार बता रहे हैं| पर्नदी या पथरचट्टा के पत्तो की चटनी बनाकर सेवन करने से किडनी संबंधी रोगों में लाभ मिल सकता है| पथरी की समस्या में भी इसका उपयोग किया जा सकता है| भोजन में तेल, खटाई युक्त भोजन नहीं लेना है| अधिक जानकारी के लिये संपर्क कर सकते हैं : वैद्य अनंतराम@ 9179607522.

Posted on: Jun 16, 2019. Tags: GUJARAT HD GANDHI HEALTH NAVSARI

स्वास्थ्य स्वर : बात रोग का घरेलू उपचार-

ग्राम-लाछाकड़ी, पोस्ट-गंगपुर, तहसील-वासदा, जिला-नवसारी (गुजरात) से धुर्गु बात रोग की समस्या का घरेलू उपचार बता रहे हैं| हरजोड़ जो हड्डी जोड़ने के लिये उपयोग किया जाता है| 200 ग्राम हरजोड़ का रस में 50 ग्राम उड़द भिगोकर रख दें| फुल जाने पर उसे पीसकर, घी या तेल में भजिया या पकोड़ा बनाकर रखे| कुछ देर बाद उसे दो-दो तुकडे कर पुनः तलें| इससे उसका तीखापन ख़त्म हो जाता है| उसके बाद एक-एक भजिया रात में प्रतिदिन खाने से लाभ हो सकता है| दवा का उपयोग करने से पहले दिये गये नंबर पर संपर्क करें : संपर्क नंबर@7000972283.

Posted on: Jun 16, 2019. Tags: GUJARAT HD GANDHI HEALTH NAVSARI

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download