ई विय विय नानो निमायो वया...तेलंगाना गोंडी गीत-

ग्राम-एर्राबोर, पाल्वंचा-ब्लाक, भद्रादी (कोठगुडम) जिला तेलंगाना से आदिवासी दादालों वंजम सुरेश सोडी, गंगामडावी कोसा गोंडी भाषा में गीत सूना रहे हैं:
ई विय विय नानोयो-
ई विय विय नानो निमायो वया-
उडाता मेट्टा कियानों-
उडाता मेट्टा कियानों नानोयो वया-
कोड़ता खुर्मी पंडूमु-
कोड़ता खुर्मी पंडूमु नानोयो वया...

Posted on: Sep 23, 2019. Tags: GONDI SONG SURESH SODI TELANGANA

नई बगियाँ में फुल खिले हैं...गीत-

ग्राम-राजापुर, जिला-निवाड़ी (मध्यप्रदेश) से जयंती एक गीत सुना रहे हैं :
नई बगियाँ में फुल खिले हैं-
हमे तोड़ने जाना है-
मईयां का मंदिर सजाना हैं-
माथे में मईया के बिंदिया सोहे-
बिंदिया पे नग जुड़वाना हैं-
नाको मईया के नथनी सोहे-
नथनी पे नग जुड़वाना है...

Posted on: Sep 23, 2019. Tags: JAYANTI NIWARI MP SONG

भजन : ये तो सच है की भगवान है, है मगर फिर भी अन्जान है-

ग्राम- जबलपुर, जिला-रायगढ (छत्तीसगढ़) से दीनानाथ पटेल एक गीत सुना रहे हैं :
ये तो सच है की भगवान है-
है मगर फिर भी अन्जान है-
धरती पे रूप माँ-बाप का-
उस विधाता की पहचान है-
जन्मदाता हैं जो नाम जिनसे मिला-
थामकर जिनकी उंगली है बचपन चला-
कांधे पर बैठ के जिनके देखा जहां-
आप दोनों सलामत रहें है-
आपसे पाया वरदान है-
धरती पे रूप माँ-बाप का-
उस विधाता की पहचान है...

Posted on: Sep 22, 2019. Tags: CG DINANATH PATEL RAIGADH SONG

ओ मईयां तूने का ठानी मन में... भक्ति गीत-

ग्राम-सहसपुर, तहसील-चौथर, थाना-सोहागी, जिला-रीवा (मध्यप्रदेश ) से विनीत कुमार यादव एक भक्ति गीत सुना रहे हैं:
ओ मईयां तूने का ठानी मन में-
राम सिया भेज दई रे वन में-
जन्म भरत तेरा ही जायो-
तेरी करनी देख लजायो-
अपना अवधपुर आप गवायो-
भरत की नजरन में-
राम सिया भेज दई वन में-
अकेले तूने का ठानी मन में-
महल छोड़ वंहा नही रे मढ़िया-
सिया सुकुमारी संग दो भईया-
ओ मईयां तूने का ठानी मन में-
राम सिया भेज दई रे वन में...

Posted on: Sep 22, 2019. Tags: MP REWA SONG VINIT KUMAR

वह शक्ति हमें दो दयानिधे, कर्त्तव्य मार्ग पर डट जावें...कविता-

ग्राम पंचायत-खजूरी, तहसील-प्रतापपुर, थाना-प्रतापपुर, जिला सूरजपुर (छत्तीसगढ़) से राजू पैकरा एक गीत कविता सुना रहा है:
वह शक्ति हमें दो दयानिधे-
कर्त्तव्य मार्ग पर डट जावें-
पर-सेवा पर-उपकार में हम-
निज जीवन सफल बना जावें-
हम दीन-दुखी निबलों-विकलों के-
सेवक बन संताप हरें-
जिस देश-जाति में जन्म लिया-
बलिदान उसी पर हो जावें-
छल, दंभ-द्वेष, पाखंड-झूठ-
अन्याय से निशिदिन दूर रहें-
जीवन हो शुद्ध सरल अपना-
शुचि प्रेम-सुधा रस बरसावें-
वह शक्ति हमें दो दयानिधे-
कर्त्तव्य मार्ग पर डट जावें...

Posted on: Sep 21, 2019. Tags: CG SHYAMSHAH PAIKRA RAJU PAIKRA SONG SURAJPUR

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download