Impact : रोजगार गारंटी योजना में काम किये, जिसका मजदूरी भुगतान हो गया...

ग्राम-कथमना, पंचायत-लतन्नी, ब्लाक-गंगेव, तहसील-सिरमौर, जिला-रीवा (मध्यप्रदेश) से रामलाल साकेत बता रहे हैं | उन्होंने रोजगार गारंटी योजना में काम किया था| जिसका मजदूरी भुगतान नहीं हो पा रहा था| उन्होंने अपनी समस्या को सरपंच, सचिव के पास रखा| बैंक में चेक कराया| लेकिन समस्या का निराकरण नहीं हो रहा था| तब उन्होंने अपनी समस्या को 2016 में सीजीनेट के रिकॉर्ड कराया| जिसके 5 माह बाद उनको मजदूरी का पैसा मिल गया| इसलिये वे सीजीनेट के साथियों और संबंधित अधिकारियों को धन्यवाद दे रहे हैं | उनकी मदद से उनको काम का पैसा मिल गया| रामलाल साकेत@8818996990.

Posted on: Apr 23, 2019. Tags: IMPACT STORY MP RAMLAL SAKET REWA

Impact : हमारा गरीबी रेखा राशन कार्ड नहीं बन रहा था, सीजीनेट में संदेश रिकॉर्ड करने के बाद बन गया-

ग्राम-बम्हनी गड़िहा, पोस्ट-जदुआ, तहसील-सिमरिया, जिला-रीवा (मध्यप्रदेश) से आशीष बहेलिया बता रहे हैं| उनका गरीबी रेखा राशन कार्ड नहीं बन पा रहा था| जिसके लिये उन्होंने अधिकारियों के पास आवेदन किया| लेकिन सुनवाई नहीं हो रही थी| तब उन्होंने अपनी समस्या को सीजीनेट स्वर में एक साल पहले रिकॉर्ड कराया था| जिसके बाद जनवरी 2019 में उनकी समस्या हल हो गई| इसलिये वे सीजीनेट के साथियों और संबंधित अधिकारियों को धन्यवाद दे रहे हैं| जिन्होंने उनकी मदद की : आशीष बहेलिया@7999736006.

Posted on: Apr 23, 2019. Tags: ASHISH BAHELIA IMPACT STORY MP REWA

जातिवाद और छुवा छूत एक सामाजिक बुराई है...कहानी-

एक दिन एक पंडित को प्यास लगी| संयोगवश उसके घर में पानी नहीं था| इसलिये उसकी पत्नी पड़ोस के घर से पानी ले आई| पानी पीने के बाद पंडित ने पूछा कहां से लाई हो बहोत ही ठण्डा है|पत्नी ने बताया| कुम्हार के घर से| ये सुनकर पंडित चिल्लाने लगा, और बोला मेरा धर्म भ्रष्ट कर दिया| शूद्र कुम्हार के घर का पानी पिला दिया| पत्नी डर से कांपने लगी, और माफ़ी मांगी| शाम को जब पंडित खाने पर बैठा| तो देखा घर में खाने को कुछ नहीं बना था| पूछने पर उसकी पत्नी ने जवाब दिया| क्या बनाती जो अनाज पकाया था| उसे उगने वाला, कड़ाही को बनाने वाला सभी शुद्र थे| इसलिये सब फेक दिया | इतने में गुस्से से पंडित बोला पानी ही ले आओ| पत्नी बोली घड़ा फेक दिया| उसे शूद्र कुम्हार ने बनाया था| तब उसने कहा दूध ले आओ तो जवाब मिला| वो भी फेक दिया| उसे चमार शूद्र ने गाय से निकला था| उसने बोला दूध में कभी छूत लगती है क्या ? पत्नी बोली ये कैसी छूत है| जो पानी में लगती है| और दूध में नहीं लगती| इतने में वो परेशान होकर बोला खाट लगा दो आराम कर लूं| पत्नी बोली उसे भी तोड़कर फेक दिया| अब घर तोड़ना बाकी है| पंडित के पास कोई जवाब नहीं था |

Posted on: Apr 21, 2019. Tags: MP RAKESH KUMAR STORY

Impact : मुझे विकलांग पेंशन नहीं मिल रहा था, सीजीनेट में संदेश रिकॉर्ड करने के बाद मिलने लगा है-

ग्राम-बम्हनी गड़िहा, पोस्ट-जदुआ, तहसील-सिमरिया, जिला-रीवा (मध्यप्रदेश) से आशीष बहेलिया बता रहे हैं| वे विकलांग है| आंखों से नहीं देख सकते| उनको पेंशन नहीं मिल रहा था| अपनी समस्या को लेकर उन्होंने सरपंच, सचिव और संबंधित विभागो में आवेदन किया| लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही थी| तब उन्होंने अपनी समस्या को सीजीनेट में जनवरी 2018 में रिकॉर्ड किया| जिसके बाद मई 2018 में विकलांग मिलने लगा| इसलिये वे सीजीनेट के साथियों और संबंधित अधिकारियों को धन्यवाद दे रहे हैं| जिन्होंने उनकी मदद की| आशीष बहेलिया@7999736006.

Posted on: Apr 18, 2019. Tags: ASHISH BAHELIYA IMPACT STORY MP REWA

Impact : 2 साल पहले अपने लागत से नहानी रूम बनवाया था, लागत का पैसा मिल गया-

ग्राम-भरदा, पोस्ट-कोटया, तहसील-प्रतापपुर, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ) से रामसिंग टेकाम बता रहे हैं| उन्होंने 2 साल पहले अपने लागत से घर में नहानी रूम बनवाया था| जिसका पैसा नहीं मिल पा रहा था| उन्होंने कई बार आवेदन किया| लेकिन सुनवाई नहीं हो रही थी| तब उन्होंने 4 महीने पहले सीजीनेट में अपनी समस्या को रिकॉर्ड किया| जिसके बाद उनको लागत का पैसा 15000 रुपये मिल गया| इसलिये वे सीजीनेट के साथियों और संबंधित अधिकारियों को धन्यवाद दे रहे हैं| जिनकी मदद से उनको पैसा मिल गया | रामसिंग टेकाम@7974130992.

Posted on: Apr 16, 2019. Tags: CG IMPACT STORY RAMSINGH TEKAM SURAJPUR

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download