स्वास्थ्य स्वर : सफ़ेद प्रदर बीमारी का घरेलू उपचार-

प्रयाग विहार, मोतीनगर, रायपुर (छत्तीसगढ़) से वैद्य एच डी गाँधी सफ़ेद प्रदर बीमारी का घरेलू उपचार बता रहे हैं, सतावर 5 ग्राम लेकर एक गिलास पानी में उबालें, जब एक कप बच जाये, तब ठण्डा होने पर एक चम्मच मिश्री मिलाकर सुबह-शाम सेवन करें, लाभ हो सकता है, भोजन में मिर्च, मसाला, तेल, खटाई, गरिष्ठ भोजन का सेवन न करें, नशा न करें, अधिक जानकारी के लिये संपर्क कर सकते हैं : एच डी गाँधी@ 9111061399.

Posted on: Sep 20, 2019. Tags: CG HD GANDHI HEALTH RAIPUR

स्वास्थ्य स्वर : प्रदर रोग या धात का घरेलू उपचार-

ग्राम-कुम्हार गनिया, पोस्ट-बाजार चारभाठा, जिला-कबीरधाम (छत्तीसगढ़) से कनक राम कौशिक प्रदर रोग का घरेलू उपचार बता रहे हैं, इसे धात रोग के नाम से भी जाना जाता है, इस समस्या के ईलाज के लिये सूखा आंवला बिना गुठली वाला 50 ग्राम, छोटी हरण 50 ग्राम, रसौक 50 ग्राम सभी को बराबर लेकर चूर्ण बना लें, उसके बाद सभी को मिला लें, मिलाकर प्रतिदिन सुबह एक चम्मच सेवन करें लाभ हो सकता है, इसके अलावा सीसम की पत्ती के रस का सरबत बनाकर सेवन करने से भी लाभ हो सकता है, भोजन में खटाई, मिर्च, मसाला का सेवन न करें, अधिक जानकारी के लिये संपर्क कर सकते हैं : संपर्क नंबर@9179998149.

Posted on: Sep 19, 2019. Tags: CG HEALTH KABIRDHAM KANAKRAM KAUSHIK

स्वास्थ्य स्वर : बिच्छू डंक मारने पर घरेलू उपचार-

प्रयाग विहार, मोतीनगर, रायपुर (छत्तीसगढ़) से वैद्य एच डी गांधी बिच्छू डंक मारने पर घरेलू उपचार बता रहे हैं, अपामार्ग की जड़ को पीसकर डंक मारे स्थान पर लगाने से लाभ मिल सकता है, दूसरा इमली के बीज को पीसकर उस स्थान पर चिपकाने से भी लाभ हो सकता है, तीसरा प्याज और नमक को मिलाकर डंक वाले स्थान पर लगाने से भी लाभ हो सकता है, गुड़ का सरबत सेवन कर सकते हैं, हुलहुल की पत्ती का रस निकालकर डंक वाले तरफ के दूसरे कान में उसके रस को डालने से आराम मिल सकता है, संबंधित विषय पर जानकारी के लिये संपर्क कर सकते हैं : संपर्क नंबर@9111061399.

Posted on: Sep 18, 2019. Tags: CG HD GANDHI HEALTH RAIPUR

स्वास्थ्य स्वर : पीलिया बीमारी घरेलु रोग उपचार-

प्रयोग आश्रम तिल्दा, जिला-रायपुर (छत्तीसगढ़) से वैद्य किरपा राम साहू जो पारंपरिक वैद्य प्रशिक्षण में शामिल हुये हैं, बच्चो को पीलिया बीमारी होने पर घरेलु उपचार बता रहे हैं, एक चुटकी हल्दी फूल का पाउडर, एक चम्मच घी और एक चम्मच अमरबेल का रस लें| सभी को मिलाकर गर्म करें, उसके बाद ठंडा कर लें, ठण्डा होने पर उसे बच्चे के शरीर पर लगाने से पीलिया बीमारी में आराम मिल सकता है, इस दवा का उपयोग तीन-तीन दिन के अंतराल में करना है, दवा का उपयोग करने से पहले दिये गये नंबर पर संपर्क कर जानकरी लें : किरपा राम साहू@7389428342.

Posted on: Sep 16, 2019. Tags: CG HD GANDHI HEALTH RAIPUR

स्वास्थ्य स्वर : बार-बार पेशाप आने की बीमारी का घरेलु उपचार...

ग्राम-कुम्हार गनिया, पोस्ट-बाजार चारभाठा, तहसील-सहसपुर लोहारा, जिला-कबीरधाम (छत्तीसगढ़) से वैद्य कनकराम कौशिक बार-बार पेशाब आने की समस्या का घरेलू उपचार बता रहे हैं, काला तिल 200 ग्राम लेकर अच्छे से कूट कर चूर्ण बना लें और उसे 250 ग्राम गुड की चाश्नी में मिलाकर 20-20 ग्राम की लड्डू बनाकर सुबह शाम एक-एक लड्डू सेवन करें, छोटे बच्चों को छोटी गोली बनाकर खिलाये, ऐसा उपयोग करने से बार-बार पेशाब आने की समस्या में आराम मिल सकता है, संबंधित विषय पर जानकारी के लिये संपर्क कर सकते हैं : कनकराम कौशिक@9179998149.

Posted on: Sep 16, 2019. Tags: CG HEALTH KABIRDHAM KANAKRAM KAUSHIK

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download