स्वास्थ्य स्वर : संतुलित भोजन करने के लाभ-

सेतगंगा, जिला-मुंगेली (छत्तीसगढ़) से वैद्य रमाकांत सोनी भोजन करने के तरीके के बारे में बता रहे हैं, भोजन ठूस ठूस कर नहीं करना चाहिये, ऐसा करने से भोजन ठीक से नहीं पचता हैं इसलिये संतुलित भोजन करना चाहिये हैं, भोजन के अच्छे से पचने पर शरीर को उर्जा मिलती है और शरीर निरोग रहता है, समय पर भोजन करना चाहिये, भूख लगने पर भोजन करना चाहिये| (AR)

Posted on: Aug 07, 2020. Tags: HEALTH DEPARTMENT

स्वास्थ्य स्वर : हिमोग्लोबिन की मात्रा को बढ़ाने का देशी घरेलु नुस्खा...

जिला-टीकमगढ़ मध्यप्रदेश से राघवेन्द्र सिंह राय आज हम लोगो को हिमोग्लोबिन कम हो जाता है, खून कम होने लगता है उसके लिए एक देशी घरेलु औषधि बता रहे है, पका वाला आनार जिसके दाने लाल हो और चुकंदर दो हिस्से आनार के दाने और एक हिस्सा आनार के लेवे और उसका रस या चूस निकाल लेवे और एक गिलास सुबह और एक गिलास शाम को पिलाये जिस रोगी महानुभव का हिमोग्लोबिन की मात्रा कम हो गई हो या खून की मात्रा कम हो गई हो उसको बराबर बढ़ाने के लिए लाभकारी सिद्ध होगा | अधिक जानकारी के लिए संपर्क नम्बर@9519520931.

Posted on: Aug 07, 2020. Tags: HEALTH DEPARTMENT

उपवास की महत्ता के बारे में जानकारी-

श्वेतगंगा, जिला-मुंगेली बिलासपुर छत्तीसगढ़ से वैद्य रमाकांत सोनी आज हम लोगो को उपवास की महत्ता के बारे में बता रहे है, जब भी हम शरीर से अधिक काम लेते है और उस ऊर्जा को बहुत खर्च कर देते है | तब हमे थकान और अलास्य आता है उसके लिए आराम करना बहुत जरुरी हो जाता है, इसी तरह हम अपने पाचन संसथान से अधिक काम लेते है | तो उसे भी आराम देने की जरूरत होती है | तब अंगो को आराम देने के लिए उपवास बहुत जरुरी हो जाता है | उपवास कैसे करें ? जिस दिन उपवास करें उस दिन किसी प्रकार का अन्न न खाए | कमजोरी मालूम पड़े तो आधे नीबू का रस और एक चम्मच सेह्द एक गिलास शुद्ध पानी में मिलाकर पी सकते है ऐसा मिश्रण आप दिन में 3 बार तक ले सकते है | यह मिश्रण आपकी शारीरिक कमजोरी को सुरक्षित रखने में सहायक होगा | अपनी उपवास की पूर्णतः को प्राप्त करें| संपर्क नम्बर@9589906028.

Posted on: Aug 06, 2020. Tags: HEALTH DEPARTMENT

स्वास्थ्य स्वर : कोकड़ी पौधा से पथरी बीमारी का इलाज-

ग्राम पंचायत-मिचनार1 और मिचनार2 के मध्य स्थित प्राचीन शिव मंदिर ब्लाक- लोहंडीगुड़ा जिला-बस्तर (छत्तीसगढ़) से राजेन्द्र कोरेटी के साथ मे गाँव के साथी बद्रीनाथ कश्यप ग्राम पंचायत साड्रा के निवासी शिव मंदिर से स्वास्थ्य से संबधित जानकारी छत्तीसगढ़ हल्बी बोली में बोले जाने वाले (कोकड़ी) पौधा जो पथरी बीमारी का इलाज करने में उपयोग करते है। इस पौधे की छोटे छोटे दाना (डंठल) जिसे पिलका बोलते है उसे सुबह, दोपहर, शाम खाली पेट खाना खाने के पहले लगातार 15 दिनों तक खिलाने से जो पथरी का बीमारी है वह जड़ से खत्म होती है। संपर्क नम्बर@7803918211.

Posted on: Aug 06, 2020. Tags: HEALTH DEPARTMENT

स्वास्थ्य स्वर : बवासीर का घरेलु उपचार-

प्रयाग विहार कादरिया मस्जिद के पीछे मोतीनगर रायपुर से वैद्य डॉ एच डी गाँधी आज हम लोगो बवासीर का घरेलु उपचार बता रहे है ध्यान से सुने और इसका प्रयोग करें, नीम का तेल मस्से होने पर लगावे और चार पांच बूंद एक कप गुगुने पानी में डालकर के रोज सुबह शाम पीने से लाभ होता है छाछ मठा मई को एक गिलास छाछ में आधा चम्मच सेंधा आधा चम्मच सोठ का चूर्ण एक चुटकी सेंधा नमक और जीरा को भुनकर के एक चुटकी जीरा डालकर के सुबह शाम खाना खाने के बाद दो बार सेवन करने से लाभ होता है दो चम्मच काला तिल चबा चबाकर गुगुने पानी के साथ सुबह शाम खाली पेट सेवन करने से शीघ्र लाभ होता है | ध्यान रहे एक गिलास पानी में तीन अंजीर को रात को भिगो देवे और सुबह चबा चबाकर खाकर के ऊपर से पानी पी लेवे एक-एक तिर्पला का चूर्ण दिन में दो बार खाना खाने के बाद सेवन करने से शीघ्र लाभ होता है | परहेज मिर्च मसाला तेल खटाई घरिष्ट भोजन का प्रयोग न करें मैदा शक्कर नमक का प्रयोग कम करें | सीक्लीन की बीमारी के, शुग्गर के लिए, बवासीर के लिए, कटे फटे होटो के लिए, और जलने पर अंगो के चिपक जाने पर और रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए औषधि उपलब्ध है | संपर्क नम्बर@9111061399.

Posted on: Aug 04, 2020. Tags: HEALTH DEPARTMENT

View Older Reports »