पर्वत पहाड़ में डेरा झलकी मोरो सुग्गा गे...सुग्गा गीत

ग्राम-रसोकी, विकासखंड-ओडगी, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़) से गणेश आयाम के साथ में फूलकुमारी, रामायणी एक सुग्गा गीत सुना रहे है:
पर्वत पहाड़ में डेरा झलकी मोरो सुग्गा गे-
उठा सगा मोर गला बाटूँ-
अंगना बाटो रासो बिछिया के-
पर्वत पहाड़ में डेरा झलकी मोरो सुग्गा गे...

Posted on: Feb 08, 2019. Tags: CG GANESH AYAM SONG SURAJPUR

गोड़ेकर बिछिया ला चाबे नागिनी सांप...डोमकच गीत-

खोहिरपारा, ग्राम-कुदरगढ, विकासखंड-ओडगी, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़) से गणेश आयाम के साथ बचीबाई, बगमनिया बाई वे लोग एक डोमकच गीत सुना रहे है:
गोड़ेकर बिछिया ला चाबे नागिनी सांप-
उठाना देवाराणा गिनी धीर जा रे-
केला-केला लोलो गिनी धीर जा रे-
येला देबे कपारा भुईन देऊन चना हरे-
गोड़ेकर बिछिया ला चाबे नागिनी सांप...

Posted on: Feb 07, 2019. Tags: CG DOMKACH SONG GANESH AYAM SURAJPUR

विरल-विरल तुरी उमर चितोरी...गोंडी बाल गीत

ग्राम-पंचायत-बड़ेबेटिया, विकासखंड-कोयलीबेडा, जिला-उत्तर बस्तर कांकेर (छत्तीसगढ़) से स्कूल की कक्षा 3 की छात्रा कुमारी लिलिमा उसेंडी एक गोंडी गीत सुना रही हैं:
विरल-विरल तुरी उमर चितोरी-
तनी उम्र मार-मार चल चितोरी-
बेंड बाजा मोके पडला मू-
ओ बेंड बाजा-
विरल-विरल तुरी उमर चितोरी-
बेंड बाजा मोके पडला मू-
तनी उम्र मार -मार चल चितोरी...

Posted on: Sep 17, 2018. Tags: CG CHILDREN GANESH AYAM GONDI KANKER KOELIBEDA SONG

तिना नामोर नानो रे नानो रे ये ये ये...गोंडी गीत...

ग्राम पंचायत-ताडवाली, विकासखण्ड-कोयलीबेडा, जिला उत्तर बस्तर कांकेर (छत्तीसगढ़) से गणेश आयाम के साथ गाँव के ग्रामीण गोंडी भाषा में एक गीत सुना रहे हैं:
तिना नामोर नानो रे नानो रे ये ये ये-
गायतन लोनु वेहट रा लयोरी-
पुनवाय माने बुम तोर रा लयोरी-
ढोलता नुकंग बाते रा लयोरी-
बस्तर बुम ता आन्दोम रा लयोरी –
पुनवान्क पुछे मायतोरोम लयोरी-
वेहोम आयो वेह्तोम रा लयोरी...

Posted on: Sep 05, 2018. Tags: CG GANESH AYAM GONDI KANKER KOELIBEDA SONG

पढ़ना कभी न छोड़ेंगे हम हर दिन पढ़ने जायेंगे...कविता

ग्राम पंचायत-ताड़वेली, विकासखंड-कोयलीबेडा, जिला-उत्तर बस्तर कांकेर (छत्तीसगढ़) से अनीश कुमार और नवीन कुमार एक कविता सुना रहे हैं:
छोटे-छोटे कदम हमारे आगे बढ़ते जायेंगे-
पढ़ना कभी न छोड़ेंगे हम हर दिन पढ़ने जायेंगे-
छोटे-छोटे हाथ हमारे गड्ढे खूब बनायेंगे-
इन गड्ढे में अच्छे सुन्दर पौधे खूब लगायेंगे-
घर आँगन को साफ रखेंगे गलियाँ साफ़ बनायेंगे-
कैसे जीना हमें चाहिए जीकर हम दिखलायेंगे...

Posted on: Sep 05, 2018. Tags: CG GANESH AYAM HINDI KANKER KOELIBEDA POEM

« View Newer Reports

View Older Reports »

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download