नहीं बदरी उहंदे, नहीं बदरी बरसे हो...सावन गीत-

ग्राम-धुमाडांड, जिला-सूरजपुर (छत्तीसगढ़ी) से रूपलाल मरावी एक गीत सुना रहे हैं :
नहीं बदरी उहंदे, नहीं बदरी बरसे हो-
नहीं बदरी उहंदे, नहीं घटा बरसे-
हमर तो देशे रे बूंदों नहीं आवे-
हमर देशे रे बूंदों नाहीं गिराले, रे बूंदों नहीं गीरे-
काहे बदरी नईदो उंधे, नहीं घटा बरसे-
नहीं हवे पेढो पौधा, नहीं हवे रुखो राई-
नहीं हवे पेढो पौधा...

Posted on: Aug 10, 2019. Tags: CG ROOPLAL MARAVI SONG SURAJPUR

Recording a report on CGNet Swara

Search Reports »

Loading

Supported By »


Environics Trust
Gates Foundation
Hivos
International Center for Journalists
IPS Media Foundation
MacArthur Foundation
Sitara
UN Democracy Fund


Android App »


Click to Download